Ghar ghar aushadhi Yojana 2023: जानें क्या है? राजस्थान सरकार के अनूठी पहल

दोस्तों, अपने प्रदेश के सभी घरों तक औषधिए पौधे पहुंचाने के लिए राज्य सरकार द्वारा Ghar ghar aushadhi Yojana की शुरुआत की गई है। इस योजना के द्वारा औषधीय पौधों के प्रति लोगों को जागरूक किया जाएगा।

घर-घर औषधि योजना के तहत प्रत्येक परिवार को कुछ चुनिंदा औषधीय पौधों की किट प्रदान की जाएगी जिसे वह अपने छत, गार्डन या आंगन में भी लगा सकते हैं।

दोस्तों, इस पोस्ट के माध्यम से हम राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई Ghar ghar aushadhi Yojana के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे। इसलिए इस पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Ghar ghar aushadhi Yojana 2023

दोस्तों, इस योजना की शुरुआत राजस्थान सरकार माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के द्वारा 1 अगस्त 2021 को “निरोगी राजस्थान अभियान” के तहत किया गया था। इस योजना के तहत राज्य के लगभग एक करोड़ 26 लाख परिवारों तक चुनिंदा औषधीय पौधे पहुंचने का लक्ष्य तय किया गया है।

दोस्तों,राजस्थान संभवत देश का पहला राज्य है, जहां पर औषधीय पौधों के प्रति आम-जनमानस में जागरूकता फैलाने हेतु इस प्रकार की अनोखी योजनाएं शुरू की गई है।

Ghar ghar aushadhi Yojana के द्वारा लोगों को चार प्रकार के औषधीय पौधे तुलसी, अश्वगंधा, कालमेघ और गिलोय बिल्कुल मुफ्त में दिए जाएंगे।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य लोगों को औषधि गुण वाले पौधों के प्रति जागरूक करना तथा छोटी-मोटी बीमारी या फिर कोरोना जैसी महामारी से लड़ने में मदद करने के बारे में बताना है।

उन्हें इस प्रकार की बीमारियों से इन औषधीय पौधे के सहायता से अपने आप को और अन्य लोगों को भी लड़ने में सक्षम बनाकर स्वस्थ रखना है।

यह योजना 5 वर्षों के लिए शुरू की गई है। इन 5 वर्षों में तीन बार लोगों को इन औषधीय पौधों का वितरण किया जाएगा।

यदि आप राजस्थान के निवासी हैं, तो ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करके इस योजना का लाभ ले सकते हैं।आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़े। क्योंकि इसमें आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया के बारे में आगे बताई गई है।

इसे पढ़ें:-
•Loan payment:अगर नहीं चुका पा रहे हैं लोन तो न हों परेशान, यहां पढ़ें अपने ये अधिकार
Byaj par Paisa kaun deta hai|ब्याज पर पैसा कौन देता है, फ्रॉड से बचने के लिए जान ले इन नियमों के बारे में

Ghar ghar aushadhi Yojana मुख्य बातें

 ✓इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के निवासी ही उठा सकते हैं।

✓इस योजना की शुरुआत राजस्थान के माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 1 अगस्त 2021 को की गई थी।

✓इस योजना के तहत लोगों को चार तरह के औषधि गन वाले पौधे मुफ्त में प्रदान किए जाएंगे यह चार पौधे हैं:- गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी और कालमेघ।

✓यह योजना 5 वर्षों तक चलेगा इसके लिए सरकार द्वारा 210 करोड रुपए का बजट रखा गया है।

✓इस योजना के तहत औषधीय पौधे लोगों को 5 वर्षों में तीन बार प्रदान किए जाएंगे।

✓इस योजना के द्वारा सरकार लोगों को औषधि पौधों के प्रति जागरूक करना चाहती है ताकि लोग अपनी छोटी-मोटी स्वस्थ समस्याओं को खुद से ठीक करें और स्वस्थ बने रहें।

✓यदि आप इस योजना से जुड़े अन्य जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो आधिकारिक वेबसाइट plan.rajasthan.gov.in पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं।

इसे पढ़ें:-

PM Aadhar Card Loan Yojana 2023: प्रधानमंत्री आधार कार्ड लोन योजना 2023 के तहत 10 हजार से 10 लाख तक का लोन पा सकते हैं। जाने कैसे

Bihar Desi Gaupalan Protsahan Yojana 2023 new apdate:गाय पालन योजना बिहार आनलाइन पूरी जानकारी व नई अपडेट

Ghar ghar aushadhi Yojana लाभ लेने के लिए आवश्यक शर्तें और दस्तावेज

• इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के अस्थाई निवासी को ही मिल सकता है।

• इस योजना के तहत चार प्रकार के औषधीय पौधे दिए जाएंगे जैसा कि ऊपर पौधों के नाम बताए गए हैं इन पौधों के दो-दो कलाम दिए जाएंगे।

• इस योजना का लाभ उठाने के लिए राजस्थान के निवासी के पास जन आधार कार्ड अवश्य होना चाहिए।

Ghar ghar aushadhi Yojana की आवेदन करने की प्रक्रिया

Ghar ghar aushadhi Yojana

दोस्तों, यदि आप भी इस योजना का लाभ पाना चाहते हैं, तो ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से आवेदन कर सकते हैं।ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको राजस्थान वन विभाग की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना पड़ेगा।

इसके अतिरिक्त समय-समय पर नगर पंचायत, नगर निगम, नगर पालिका, ग्राम सभा या जनप्रतिनिधियों के माध्यम से भी पौधों का वितरण किया जाता है। जहां पर आप बिना किसी आवेदन पत्र के भी पौधा प्राप्त कर सकते हैं।

आपके क्षेत्र में इन पौधों का वितरण कब होगा। इसकी जानकारी आपको नगर निगम, पंचायत ऑफिस या अपने वार्ड पार्षद के माध्यम से भी ले सकते हैं।

पोस्ट से संबंधित प्रश्न उत्तर

(1). Ghar ghar Aushadhi Yojana कब शुरू की गई थी?

उत्तर:- इस योजना की शुरुआत 1 अगस्त 2021 को राजस्थान के माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा ‘निरोगी राजस्थान अभियान’ के तहत ‘घर-घर औषधि योजना’ तथा ’72वां वन महोत्सव’ का शुभारंभ किया गया था।

(2). प्रधानमंत्री जन औषधि योजना कब शुरू की गई थी?

उत्तर:-‪इस योजना की शुरुआत भारत के माननीय प्रधानमंत्री जी के द्वारा 23 अप्रैल 2018 को किया गया था।

(3). राष्ट्रीय औषधि दिवस कब मनाया जाता है?

उत्तर:-जन औषधि दिवस या जेनेरिक मेडिसिन दिवस भारत में प्रत्येक वर्ष 7 मार्च को मनाया जाता है। वर्ष 2021 में 1 मार्च से 7 मार्च तक पूरे सप्ताह को प्रत्येक दिन के लिए अलग-अलग विषय वस्तु के साथ जन औषधि सप्ताह के रूप में सेलिब्रेट किया गया था। 7 मार्च को ‘सेवा भी’ ‘रोजगार भी’ की विषय वस्तु के साथ भी मनाया गया था।

(4). सबसे ज्यादा औषधीय पौधा कौन सा है?

उत्तर:-नीम का पेड़ बहुत ही अधिक औषधिय गुणों से परिपूर्ण होता है। इस पेड़ के पत्ते, फल, छाला आयुर्वेदिक दवाओं बनाने के लिए विभिन्न तरीके से उपयोग किए जाते हैं।

उम्मीद है कि यह पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी। ऐसे ही और जानकारी हासिल करने के लिए इस वेबसाइट के साथ हमेशा बने रहे, और अपना सुझाव देते रहें।

अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद।💐💐

इसे भी पढ़ें:-
Mukhya Mantri Anudan Transformer Yojana 2023: मुख्य मंत्री अनुदान ट्रांसफार्मर योजना 2023, किसानों के लिए है अच्छी खबर, कब चालू होगी
Rashtriya Swasthya Bima Yojana|राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभार्थी सूची कैसे देखें

Discover more from teckhappylife.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading