Kaal bhairav chalisa in Hindi 2023 : काल भैरव मंत्र, ॐ काल भैरवाय नमः मंत्र के फायदे क्या हैं जानें

दोस्तों,एक धार्मिक मान्यताओं के अनुसार बाबा काल भैरव भगवान भोलेनाथ के पांचवें अवतार हैं।काल भैरव जयंती के दिन काल भैरव चालीसा पाठ का बहुत महत्व बताया गया है।Kaal bhairav chalisa in Hindi 2023 पोस्ट में काल भैरव के चालिसा पाठ के बारे में जानकारी दी गई है।

काल भैरव जयंती 2023 

इस वर्ष 5 दिसंबर को काल भैरव जयंती मनाई जाएगी।काल भैरव जयंती के दिन यदि इनका व्रत तथा सच्ची श्रद्धा भक्ति और विधि विधान से पूजा- अर्चना की जाए ,तो जीवन से सभी दुख, दरिद्रताएं और परेशानियां दूर हो जाती है, तथा सुख- शांति- समृद्धि का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

काल भैरव जयंती के शुभ अवसर पर सभी शिवालयों और मठों में भी काल भैरव की विशेष पूजा- अर्चना की जाती है। इसमें काल भैरव का भक्तगण आवाहन करते हैं, तथा विधिवत पूजा करते हैं ।इस दिन काल भैरव चालीसा पाठ भी भक्तों के द्वारा किया जाता है।

इस दिन काल भैरव के पूजा के दौरान भैरव चालीसा का पाठ भी अवश्य करना चाहिए। इस दिन काल भैरव चालीसा का पाठ करने से जीवन में सुख- शांति- समृद्धि का आगमन होता है। भक्तों के जीवन में खुशियों का संचार होता है।

Kaal bhairav chalisa in Hindi 2023 पोस्ट में काल भैरव चालीसा दी गई है। इसलिए आप यहां आसानी से इसका पाठ कर सकते हैं।

Kaal bhairav chalisa in Hindi 2023 ( काल भैरव चालीसा)

श्री काल भैरव चालीसा

दोहा
श्री गणपति गुरु गौरी पद प्रेम सहित धारी माथ।
चालीसा वंदन करो श्री शिव भैरवनाथ ।।
श्री भैरव संकट हरण मंगल करण कृपाल।
श्याम वरण विकराल वपु लोचन लाल विशाल।।
चालीसा 
जय जय श्री काली के लाला।
जयति जयति काशी- कोतवाला।
जयति बटुक-भैरव भय हारी।
जयति काल-भैरव बलकारी ।।
जयति नाथ-भैरव विख्याता।
जयति सर्व-भैरव सुखदाता।।
भैरव रूप कियो शिव धारण ।
भव के भार उतारण कारण।।
भैरव रव सुनी हवै भय दूरी।
सब विधि होय कामना पूरी।।
शेष महेश आदि गुण गायो।
काशी-कोतवाल कहलायो।
 जटा जूट शिर चंद्र विराजत। बाला मुकुट विजायठ साजत।।
 कटि करधनी घुंघरू बाजत।
दर्शन करत सकल भाई भाजत।।
जीवन दान दास को दिन्हयो्। किन्हो कृपा नाथ तब चीन्हो।।
वसी रसना बनि सारद- काली।
दिन्ह्यो वर राख्यो मम लाली।।
धन्य धन्य भैरव भय भंजन।
जय मनरंजन खल दल भंजन।।
कर त्रिशूल डमरू शुचि कोड़ा।
कृपा कटाक्ष सुयश नहीं थोड़ा।।
जो भैरव निर्भय गुण गावत।
अष्ट सिद्धि नव निधि फल पावत।
रूप विशाल कठिन दुख मोचन।
क्रोध कराल लाल दुहुं लोचन।।
अगणित भूत प्रेत संग डोलत।
बम बम बम शिव बम बम बोलत।।
रुद्रकाय काली के लाला।
महा कालहू के हो लाला।।
बटुक नाथ हो काल गंभीरा।
श्वेत रक्त अरू श्याम शरीरा।।
करता नीनहूं रूप प्रकाशा।
भरत शुभक्तन कहं शुभ आशा।
 रत्न जड़ित कंचन सिंहासन।
व्याघ्र चर्म शुचि नर्म सुआनन।।
तुमहि जाइ काशीहिं जन ध्यावहीं।
विश्वनाथ कहं दर्शन पावहिं।।
जय प्रभु संहारक सुनन्द जय।
जय उन्नत हर उमा नंद जय।।
भीम त्रिलोचन स्वान साथ जय।
बैजनाथ श्री जगत नाथ जय।।
 महा भीम भीषण शरीर जय।
रुद्र त्र्यम्बक धीर वीर जय ।। 
अश्वनाथ जय प्रेत नाथ जय।
स्वाना रूढ़ सयचंद्र जय।।
निमिष दिगंबर चक्र नाथ जय।
गहत अनाथन नाथ हाथ जय।।
त्रेशलेश भूतेश चंद्र जय।
क्रोध वत्स अमरेश नन्द जय।
श्री वामन नकुलेश चण्ड जय।
कृत्याऊ कीर्ति प्रचंड जय ।।
 रूद्र बटुक क्रोधेश कालधर। 
चक्र तुण्ड दश पाणिव्याल धर।
करि मद पान शंभु गुण गावत।
चौंसठ योगिनी संग नचावत।।
 करते कृपा जन पर बहु ढंगा।
काशी कोतवाल अड़ंगा।।
देयं काल भैरव जब सोटा।
नसै पाप मोटा से मोटा।।
जनकर निर्मल होय शरीरा।
मिटै सकल संकट भव पीरा।।
श्री भैरव भूतों के राजा।
बाधा हरत करत शुभ काजा
ऐलादी के दुख निवारयो।
सदा कृपा करी काज सम्हारयो
 सुंदर दास सहित अनुरागा।
श्री दुर्वासा निकट प्रयागा।।
श्री भैरव जी की जय लेख्यो।
सकल कामना पूरण देख्यो।।
जय भैरव बटुक स्वामी संकट टार।
कृपा दास पर कीजिए शंकर के अवतार।।

भगवान भैरव का चमत्कारी मंत्र जिसे जपते ही पूरी हो जाती है हर मनोकामना

अगहन महीने के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन भगवान काल भैरव की मंत्र जाप करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। इस दिन काल भैरव की पूजा करने से को साधक को काल भैरव का विशेष आशीर्वाद प्राप्त होता है।

इस दिन स्नान ध्यान करके पवित्र मन से सर्वप्रथम उनकी पूजा-अर्चना करने के लिए संकल्प लेना चाहिए। इसके पश्चात “ॐ तीखदन्त महाकाय कल्पांतदोहनम, भैरवाय नमस्तुभ्यं अनुज्ञां दातुर्महिसी”  मंत्र पढ़ते हुए भगवान भैरव से प्रार्थना करनी चाहिए, कि हमें पूजा करने की आज्ञा प्रदान करें ।हम पर अपनी कृपा दृष्टि बनाएं।

इसके पश्चात काल भैरव अष्टकम का पाठ करना चाहिए। ऐसा करने से भगवान काल भैरव जल्द प्रसन्न होते हैं, तथा भक्त की सारी मनोकामनाएं पुरी करते हैं। भक्तों के जीवन में सुख- शांति- समृद्धि का आशीर्वाद प्रदान करते हैं, तथा मनवांछित फल की प्राप्ति होती है।

ॐ काल भैरवाय नमः मंत्र के फायदे ( kaal bhairav mantra benefits)

दोस्तों, वैसे तो काल भैरव के बहुत सारे मंत्र हैं, लेकिन जिसमे बीज मंत्र शामिल होता है वह बहुत प्रभावी मंत्र होता है।लेकिन इनका जाप बिना दीक्षा लिए नहीं करना चाहिए।

“ॐ काल भैरवाय नमः” मंत्र का जाप कभी भी किया जा सकता है।इस मंत्र के बहुत ही चमत्कारिक लाभ अर्थात फायदे देखने को मिलते हैं।

इस मंत्र जाप के फायदे निम्नलिखित हैं:-

(1). शीघ्र इच्छापूर्ति

यदि आप काल भैरव के मंत्र का जाप करते हैं, तो इस बात में बिल्कुल भी संदेह नहीं है कि आपकी मनोकामनाएं जल्द ही पूर्ण होने वाली है। आपको पूर्ण श्रद्धा तथा सच्ची भक्ति भाव के साथ काल भैरव बाबा का “ॐ काल भैरव आए नमः” मंत्र का जाप करते रहना है। इस मंत्र का जाप करने से जल्द ही मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।

(2).भूत- प्रेत बाधा से मिलता है छुटकारा

यदि आपके ऊपर किसी भूत- प्रेत का बाधा बना हुआ है, या घर परिवार में कोई सदस्य भूत- प्रेत से परेशान है, तो इसके लिए आपको काल भैरव की पूजा करने से बढ़कर दूसरा कोई उपाय नहीं है।

आप काल भैरव का पूजा- अर्चना करें तथा “ॐ काल भैरवाय नमः मंत्र” का जाप करते रहें। ऐसा करने से कुछ समय में आपके ऊपर से भूत-प्रेत की सारी बाधाएं दूर हो जाएंगे तथा आपके जीवन में पुनः खुशियां आ जाएगी।

(3). हो जाता है शत्रु का नाश

दोस्तों, यदि आप किसी दुश्मन से परेशान हैं। किसी ने आपके ऊपर किसी प्रकार का मुकदमा कर दिया है। अथवा आपके घर पर किसी प्रकार का जादू टोना करके कोई परेशान कर रहा है ,तो आप ऐसे दुश्मनों से छुटकारा पाने के लिए काल भैरव बाबा की पूजा अर्चना कर सकते हैं ।

उनके मंत्रों का जाप अवश्य करें। ऐसा करने से आपके ऊपर से यह सारी मुसीबतें दूर हो जाएंगे। आपके शत्रु का अपने आप ही नाश हो जाएगा तथा आपका जीवन सुखमय हो जाएगा।

दोस्तों उम्मीद है कि Kaal bhairav chalisa in Hindi 2023 पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी। ऐसी ही और जानकारी हासिल करने के लिए इस वेबसाइट को सब्सक्राइब करें तथा टेलीग्राम ग्रुप से भी जुड़ जाएं ।इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी अवश्य शेयर करें ,ताकि उन्हें भी स्पष्ट का लाभ प्राप्त हो सके।

दोस्तों, मैं बताना चाहूंगी कि इस Kaal bhairav chalisa in Hindi 2023 पोस्ट में दी गई धार्मिक संबंधित जानकारियां धार्मिक मान्यताओं और आस्थाओं पर आधारित है। इसलिए यह वेबसाइट किसी भी प्रकार की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है।आप कोई भी प्रयोग करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से आवश्यक सलाह अवश्य लें।

अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद।💐💐

Read also:- Kaal bhairav jayanti 2023 date and time in hindi : काल भैरव की पूजा किस दिन होती है, काल भैरव जयंती 2023, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

 

1 thought on “Kaal bhairav chalisa in Hindi 2023 : काल भैरव मंत्र, ॐ काल भैरवाय नमः मंत्र के फायदे क्या हैं जानें”

Leave a Reply

Discover more from teckhappylife.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading