Karwa chauth thali: करवा चौथ थाली में ये चीजें रखना बेहद जरूरी है, बढ़ेगा सुख-सुहाग

Karwa chauth thali: दोस्तों ,हर साल की भांति इस वर्ष भी सुहागन महिलाओं के द्वारा कार्तिक महीने के चतुर्थी तिथि पर करवा चौथ का व्रत रखा जाएगा। हर व्रत के विधि-विधान होते हैं, इसी प्रकार इस व्रत के भी कुछ विधि-विधान हैं, जिनका पालन करना जरूरी माना जाता है।

इस वर्ष कार्तिक महीने की चतुर्थी तिथि 1 नवंबर को हो रहा है। इसलिए 1 नवंबर अर्थात बुधवार को सुहागिन महिलाओं के द्वारा करवा चौथ का व्रत रखा जाएगा। यह व्रत सुहागन औरतों के द्वारा बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

Karwa Chauth Vrat

कार्तिक मास की चतुर्थी तिथि को करवा चौथ का व्रत सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए बड़े हर्ष उल्लास के साथ रखती हैं। यह व्रत सुबह सरगी से लेकर शाम में चंद्र दर्शन तक चलता है।

सरगी के पश्चात व्रती महिलाएं पूरे दिन अन्न-जल का त्याग करती हैं। इस दिन सुबह व्रत का संकल्प लेकर इस व्रत के सारे नियमों का कुशलता पूर्वक पालन करती हैं। इस दिन सभी महिलाएं खूब सज धज कर व्रत रखती हैं और पूजा करती हैं।

जिस प्रकार अन्य सभी व्रत का विधि-विधान होते हैं, इस प्रकार इस करवा चौथ व्रत का भी एक विधि होता है। इस विधि के अनुसार ही करवा चौथ करने वाली महिलाएं पूजा के दौरान सुहाग की थाली सजाती हैं।

इस थाली में कुछ आवश्यक चीजों का होना बहुत ही महत्वपूर्ण और शुभ माना जाता है। इसलिए आईए जानते हैं कि इस व्रत के थाली में किन चीजों को रखना बेहद ही जरूरी होता है।

Karwa Chauth thali

इस थाली में निम्नलिखित चीजों का होना आवश्यक माना गया है इसे इस पूजा के लिए बहुत ही शुभ माना जाता है:-

✓मिट्टी का करवा 

✓आटे से बना दीपक 

✓कलश

✓छलनी

✓फूल

✓अक्षत

✓कुमकुम

✓मिठाई

करवा चौथ की व्रत में करवा दीपक, छलनी और कांच की सींक का महत्व भगवान शिव, माता गौरी और प्रथम पूज्य गणेश जी की पूजा करने का विधान माना जाता है।

वहीं मिट्टी के करवा जिसमें टोटी लगी होती है, उसे प्रथम पूज्य गणेश जी की सूंड माना जाता है। इस व्रत के पूजा के दौरान इसी करवा में जल भरकर पूजन का महत्व होता है। वहीं करवा चौथ की पूजा में चंद्र उदय के बाद सभी महिलाएं छलनी में दीपक रखकर चंद्रमा के दर्शन करने के पश्चात अपने पति का चेहरा देखती हैं और अपने पति के हाथों जल ग्रहण कर व्रत तोड़ती हैं।

हिंदू मान्यताओं के अनुसार कहा जाता है कि ऐसा करने से नेगेटिविटी दूर होती है, और पति-पत्नी के बीच संबंध मजबूत होता है। इस व्रत में कांस की सींक को शक्ति का प्रतीक माना जाता है। इस कांस की सींक को मिट्टी के करवा की टोटी में डाला जाता है।

Karwa chauth vrat ka samgri 

Karwa chauth thali

 मिट्टी या तांबे का करवा मिट्टी का ढ़क्कन  पान कांस की सींक 
कलश आठ पूरियों की अठावरी अक्षत चंदन
सिंगार का सामान पीली मिट्टी फूल  हल्दी 
लकड़ी का आसन  देशी घी  कच्चा दूध  दही 
शहद  शक्कर का बुट्टा  रोली  मौली
मिठाई  चलनी दीपक जल
थाली  बाती धूप अगरबत्ती 

 

दोस्तों उम्मीद है कि या पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी ऐसी और जानकारी हासिल करने के लिए इस वेबसाइट के साथ हमेशा बने रहें। टेलीग्राम जॉइन आइकन पर क्लिक करें। इस वेबसाइट के साथ हमेशा बने रहे इस पोस्ट को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी अवश्य शेयर करें ताकि उन्हें भी इस प्रकार की जानकारियां समय पर मिलती रहे।

करवा चौथ के पूजा विधि और महत्व के बारे में जानने हेतु नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:-

• Karva chauth kab hai 2023: इस तारीख को रखा जाएगा करवा चौथ जानें इसका महत्व और शुभ मुहूर्त के बारे में

अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद।💐💐

• Diwali par nibandh in hindi | दीपावली पर निबंध हिंदी में Class 1 से 10 तक के लिए यहाँ देखें

1 thought on “Karwa chauth thali: करवा चौथ थाली में ये चीजें रखना बेहद जरूरी है, बढ़ेगा सुख-सुहाग”

Leave a Reply

Discover more from teckhappylife.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading