Loan payment:अगर नहीं चुका पा रहे हैं लोन तो न हों परेशान, यहां पढ़ें अपने ये अधिकार

Loan payment: दोस्तों यदि आप लोग नहीं चुका पा रहे हैं तो ना हो परेशान,यहां पर पड़े अपने यह अधिकार। यदि आप अपने अधिकार को अच्छे से समझ लेते हैं तो आपको किसी भी कीमत पर बैंक कभी भी परेशान नहीं कर सकता है।

Loan payment:भारत सरकार ने आरबीआई के माध्यम से हम सबको कई ऐसे अधिकार प्रदान किए हैं ,जिसकी मदद से हम सब बैंक से परेशान नहीं होंगे। तो आइए जानते हैं कि सरकार ने आरबीआई के माध्यम से हम सबको कौन-कौन से अधिकार प्रदान किए हैं?

Table of Contents

अगर आप लोन नहीं चुका पा रहे हैं तो आपके साथ बैंक क्या नहीं कर सकता है जानें विस्तार से

(1) बैंक अमानवीय व्यवहार नहीं कर सकता:-

आपके साथ बैंक के रिकवरी एजेंट मानवीय व्यवहार नहीं कर सकता है। एजेंट ,लोन लेने वाले या उसके परिवार के सदस्यों को डरा या धमकी नहीं दे सकता है।

कोई भी बैंक एजेंट आपको किसी भी प्रकार का शारीरिक नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। साथ ही किसी भी प्रकार का दुर्व्यवहार भी नहीं कर सकता है।

(2) नोटिस दिए बिना कार्रवाई नहीं कर सकता:-

ऋण लेने वाले के खाते को एक गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (NPA) के रूप में वर्गीकृत कर दिया जाता है, यदि पुनर्भुगतान 90 दिनों से अधिक का बकाया हो गया हो ।

इस तरह के मामलों में बैंक को 60 दिन पहले एक नोटिस जारी करना होता है। यदि लोन लेने वाला व्यक्ति नोटिस अवधि के अंदर ऋण चुकाने में असफल होता है, तो बैंक संपत्ति की बिक्री के साथ आगे की कार्रवाई कर सकता है।

हालांकि बेचने के लिए बैंक को बिक्री के सभी विवरणों का उल्लेख करने के साथ ही एक 30 दिवसीय सार्वजनिक नोटिस जारी करना होता है। यह सब करने के पश्चात ही आगे की कार्रवाई बैंकों के द्वारा किया जा सकता है।

(3) गिरवी संपत्ति का गलत मूल्यांकन नहीं कर सकता:-

हां दोस्तों, बैंक आपके द्वारा लोन के एवज में गिरवी रखी गई संपत्ति का गलत मूल्यांकन नहीं कर सकता है।

(4) संपत्ति के उचित मूल्यांकन का अधिकार:-

बैंकों के द्वारा उधार कर्ता कि संपत्ति बेचने से पहले आरक्षित मूल्य तिथि और नीलामी के समय के साथ संपत्ति के उचित मूल्य को निर्दिष्ट करते हुए एक नोटिस जारी करना पड़ता है।

लोन लेने वाले व्यक्ति के संपत्ति की गणना बैंक के मूल्यांकन कर्ताओं के द्वारा की जाती है। यदि उधार कर्ता को लगता है कि उसके संपत्ति का मूल्यांकन सही ढंग से नहीं किया गया है तो वह मौजूदा नीलामी में शामिल हो सकता है।

(5) नीलामी की प्रक्रिया बैंक गोपनीय रूप से नहीं कर सकता:-

 गिरवी रखी गई संपत्ति का नीलामी बैंक के द्वारा उधार कर्ता को बताए बिना नहीं किया जा सकता है। उधार कर्ता गिरवी रखी गई संपत्ति के नीलामी की प्रक्रिया की पूरी निगरानी कर सकता है।

नीलामी की गई संपत्ति से जो राशि प्राप्त होता है, उससे लोन और ब्याज देने के बाद यदि पैसा बच जाता है तो वह आपका अर्थात् गिरवी रखने वाले व्यक्ति का होगा।

इसे आप एक उदाहरण से अच्छे से समझ सकते हैं जैसे कि आपको एक बैंक को 10 लाख रुपए देने हैं, एवं आपकी संपत्ति जो गिरवी रखी गई है ,उसकी नीलामी होने पर 18 लाख रुपए मिलते हैं।

तो बैंक सिर्फ अपने पास 10 लाख रुपए ही रखेगी। बाकी बचे पैसे 8 लाख आपको अर्थात गिरवी रखने वाले व्यक्ति को वापस  मिल जाएगा।

Conclusion Points

लोन लेने वाले व्यक्ति के द्वारा कर्ज नहीं चुका पाने के कई कारण हो सकते हैं। हो सकता है कि नौकरी खो गई हो। या कोई अप्रत्याशित चिकित्सा में खर्च हो गया हो। कारण जो भी रहा हो, यदि लोन लेने वाला व्यक्ति अपना कर्ज नहीं चुका पा रहा है, तों चिंता नहीं करना चाहिए।

ऐसी परिस्थितियों में लोन लेने वाले व्यक्ति को ज्यादा चिंता करने की बजाय अपने आप को ट्रैक पर वापस लाने की कोशिश करनी चाहिए।

सर्वप्रथम आप अपने ऋण दाता से बात करें और अपनी स्थिति के बारे में उन्हें बताएं।ऋण दाता आपके साथ काम करने और ऋण की चुकौती अवधि और बढ़ाने के इच्छुक हो सकते हैं।

दूसरा, भुगतान करने में मदद करने के लिए अंशकालिक आपको नौकरी पाने या किसी अन्य तरीका से अतिरिक्त पैसा बनाने का प्रयास करना चाहिए।

इतना सब कुछ करने के पश्चात भी दुर्भाग्यवश आप अपना ऋण चुका पाने में असफल हो जाते हैं ।तो आप हमेशा दिवालिया घोषित करने पर विचार कर सकते हैं।

परंतु यह आपका अंतिम उपाय होना चाहिए। यह तब होना चाहिए जब आप किसी भी प्रकार से अपने ऋण को चुका पाने में सफल नहीं हो सकते हैं।

यदि आप किसी भी कीमत पर लोन चुका पाने में पूरी तरह से असमर्थ हैं। तो ऐसे में आपको लग सकता है कि बैंक आप पर कोई ना कोई कार्रवाई कर सकता है।

तो ऐसे में आप बिल्कुल ना घबराए। भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने कर्ज धारकों के लिए भी कुछ अधिकार तय किए हुए हैं।

कानूनी सहायता लेकर आप अपनी परेशानी को बहुत हद तक कम कर सकते हैं। यहां तक की आपको कभी भी जेल जाने की नौबत नहीं आ सकती है।

इस पोस्ट से संबंधित कई महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए गए हैं जिसे पढ़कर आप अपनी परेशानी को बहुत हद तक काम कर सकते हैं इसलिए आप इस प्रश्नोत्तरों को अवश्य पढ़ें।

प्रश्न ( 1 ) – लोन ना चुकाने पर कब जेल होती है?

उत्तर:- यदि आपने बैंक से सुरक्षित लोन लिया है और उसके बदले में अपने अपने संपत्ति को बैंक के पास गिरवी रखा हुआ है। तो ऐसे में निर्धारित समय पर लोन चुका पाने की स्थिति में बैंक अदालत का दरवाजा खटखटा सकती।

ऐसे में आपके द्वारा गिरवी रखी गई संपत्ति का नीलामी का आदेश अदालत दे सकती है। ऐसी स्थिति में नीलामी के बाद जो भी राशि प्राप्त होता है ,उससे बैंक अपने कानूनी कार्रवाई व अदालती खर्च के साथ-साथ लोन की पूरी राशि वसूल करती है।

यदि आपकी संपत्ति की नीलामी से राशि ज्यादा प्राप्त हो जाता है ,तो आपको शेष राशि दे दिया जाता है।

दूसरी स्थिति में नीलामी के द्वारा प्राप्त राशि यदि कम पड़ जाए, तो आप पर फौजदारी केस चलाया जाएगा।

यदि आप फौजदारी केस हार जाते हैं,तो ऐसी स्थिति में आपको जेल जाना पड़ सकता है। परंतु जेल जाने से बचने का आपके पास एक विकल्प यहां पर भी बचा हुआ है।

यदि आप पहले ही अपने आप को अदालत के सामने दिवालिया घोषित कर लेते हैं ,तो आप जेल जाने से बच सकते हैं।

Loan payment

प्रश्न ( 2 ) – लोन ना चुकाने पर, जेल जाने से बचने का क्या तरीका है?

उत्तर:- यदि आप, खुद को को जेल जाने से बचना चाहते हैं तो आप अपने आप को कोर्ट के समक्ष दिवालिया घोषित कर लीजिए। इस प्रक्रिया में थोड़ा समय तो लग सकता है परंतु आप अपने आप को निश्चित रूप से जेल जाने से बचा सकते हैं।

प्रश्न ( 3 ) – यदि मैं ऋण नहीं चुका सकता तो मेरे पास क्या अधिकार हैं?

उत्तर: – आपके पास जो पहला अधिकार है वह है ग्रेस पीरियड का अधिकार।

ग्रेस पीरियड एक समय अवधि है, जो आमतौर पर 6 महीने का होता है। इस समय में आपको अपने लोन पर कोई भुगतान नहीं करना होता है।

इस पीरियड से आपको आर्थिक रूप से अपने पैरों पर वापस आने और फिर से भुगतान शुरू करने का समय मिल जाता है।

यदि आप अनुग्रह अवधि अर्थात ग्रेस पीरियड के पश्चात भी भुगतान नहीं कर पाते हैं, तो आपके पास स्थगन या सहनशीलता का अधिकार है।

आपके पास यही दोनों विकल्प हैं जो आपको अस्थाई रूप से अपने लोन पर भुगतान करना बंद करने की

ये दोनों विकल्प हैं, जो आपको अस्थायी रूप से अपने लोन पर भुगतान करना बंद करने की अनुमति देते हैं।

प्रश्न ( 4 ) – लोन न चुकाने के क्या परिणाम होते हैं?

उत्तर:-यदि कोई व्यक्ति अपना लोन नहीं चुका पाता है, तो उसे डिफॉल्ट माना जाता है। इसके गंभीर परिणाम होते हैं, जिनमें आगे की संघीय वित्तीय सहायता के लिए पात्रता के हानि ,वेतन वृद्धि और संग्रह एजेंसियां शामिल है।

समय पर लोन न चुका पाने से आपके क्रेडिट स्कोर को भी नुकसान हो सकता है और भविष्य में लोन लेने में कठिनाइयां आ सकती है।

प्रश्न ( 5 ) – ऋण चुकाने के लिए मैं कौन से कदम उठा सकता हूं?

उत्तर:-आप अपने लोन चुकाने के लिए कई कदम उठा सकते हैं।सबसे पहले आप प्रत्येक महीने अपने भुगतान समय पर करना सुनिश्चित कर सकते हैं।

दूसरा, यदि आप वहां कर सकते हैं तो प्रत्येक महीने थोड़ा अतिरिक्त भुगतान करने की कोशिश कर सकते हैं इससे आपको लोन  जल्दी चुकाने में मदद मिल सकती है।

तीसरा, यदि आपके पास अतिरिक्त धन है तो आप लोन के लिए एक मुश्त भुगतान कर सकते हैं। 

चौथा, यदि आप कम ब्याज दर के लिए अर्हता प्राप्त कर लेते हैं, तो आप लोन पुनर्वित्त कर पाएंगे।

प्रश्न ( 6 ) – यदि मैं ऋण नहीं चुका सकता तो मेरा क्या होगा?

उत्तर :-यदि आप अपना लोन नहीं चुका पा रहे हैं तो आप दंड और शुल्क के अधीन हो सकते हैं।इसमें विलंब शुल्क, संग्रह लागत और कानूनी शुल्क शामिल हो सकता है।

आपके लोन न चुकाकर ,आप अपने क्रेडिट स्कोर को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं ।इससे भविष्य में उधार लेने की आपकी क्षमता प्रभावित हो सकती है। आपको भविष्य में लोन लेने में कई प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।

यदि आप समय पर लोन चुकाने में असमर्थ हैं, तो आपको अपने विकल्पों पर चर्चा करने के लिए जितनी जल्द हो सके अपने ऋण दाता से संपर्क करना चाहिए।

प्रश्न ( 7 ) – अगर मैं कर्ज नहीं चुका सकता तो मेरे पास क्या विकल्प हैं?

उत्तर:-यदि आप लोन नहीं चुका पा रहे हैं, तो आपके पास कुछ विकल्प हैं। आप यह मालूम करने के लिए बैंक के साथ बातचीत करने का प्रयास कर सकते हैं। आपको विकल्प का पता चल पाएगा। 

यदि कोई विकल्प नहीं है तो आप अपने लोन को समेकित करने या दिवालिया घोषित करने पर विचार कर सकते हैं।

उम्मीद है कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको अच्छा लगा होगा आपके मन में चल रहे कई सारे प्रश्नों के उत्तर मिल गए होंगे। यदि आप ऐसे ही और जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो इस वेबसाइट के साथ हमेशा बने रहे।

अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद। 💐💐

Blogging se paisa kaise kamaye (18 behtarin tarike)

Free keyword research karne ka sabse saral tarika

Surya grahan 2023 in India date and time

Chandra grahan 2023 in India date and time

Preamble to the Indian Constitution

Maulik Adhikar /fundamental rights

Bhartiya sanvidhan ki visheshtaen

 

9 thoughts on “Loan payment:अगर नहीं चुका पा रहे हैं लोन तो न हों परेशान, यहां पढ़ें अपने ये अधिकार”

Leave a Reply

Discover more from teckhappylife.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading