Rakhee Gulzar Now : राखी गुलज़ार, नंदिता रॉय और शिबो-प्रसाद की “अमर बॉस” में करेंगी काम

दोस्तों, आपको जानकारी होगी कि 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजों के जंजीरों से आजादी मिली थी। इसी दिन भारत के एक मशहूर फिल्मी अभिनेत्री का जन्म भी हुआ था। यदि इनके बारे में जानना चाहते हैं, तो Rakhee Gulzar Now post अंत तक पढ़े। इस पोस्ट में इनके बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है ।

Rakhee Gulzar 

15 अगस्त 1947 के दिन जन्म लेने वाली भारत की मशहूर अभिनेत्री का नाम राखी गुलजार है। यह व्यापक रूप से केवल राखी के नाम से ही जानी जाती हैं।

राखी गुलजार मुख्य रूप से हिंदी फिल्म तथा कई बंगाली फिल्मों में भी काम की हुई है। इन्होंने लगभग 4 दशकों तक फिल्म जगत में अपना योगदान दिया तथा कई पुरस्कारों को भी अपने नाम किया है। इसके बारे में इसी पोस्ट में हम नीचे जानेंगे।

इन पुरस्कारों के अतिरिक्त फिल्मफेयर पुरस्कार तथा एक राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी अपने नाम किया है। राखी गुलजार को फिल्मफेयर में 16 बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए तथा आठ बार सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए नामांकित किया जा चुका है।

इस वजह से राखी गुलजार माधुरी दीक्षित तथा रानी मुखर्जी के साथ फिल्म जगत की महिला श्रेणियों में सबसे अधिक नामांकित कलाकार है।

राखी गुलजार का जन्म भारत की आजादी की घोषणा होने के कुछ समय पश्चात ही 15 अगस्त 1947 को पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के राणाघाट में एक बंगाली परिवार में हुई थी।

राखी गुलजार की पहली शादी 

राखी गुलजार का किशोरावस्था में ही बंगाली फिल्मों के निर्देशक अजय विश्वास के साथ विवाह हो गई थी, परंतु यह विवाह ज्यादा दिनों तक चल ना सकी।कुछ समय पश्चात ही दोनों अलग हो गए।

उसके पश्चात राखी बंगाल से मुंबई आ गई तथा उन्होंने अपनी फिल्मी करियर को आगे ले जाने की कोशिश में लग गई। इस कोशिश में राखी सफल भी हुईं।

राखी गुलजार की दूसरी शादी 

फिर कुछ समय पश्चात एक विख्यात फिल्म निर्देशक, कवि एवं प्रसिद्ध गीतकार गुलजार के रूप में राखी के जीवन में पुनः एक बार प्यार ने दस्तक दी, तथा उनके साथ दूबारा विवाह रचाया।

राखी 1973 में गुलजार के साथ शादी कर ली तथा 1 साल बाद ही एक बेटी को जन्म दिया, जिसका नाम मेघा रखा।

बेटी के जन्म से राखी का परिवार तो बहुत खुश हुआ लेकिन कुछ समय पश्चात ही राखी का गुलजार से अनबन हो गई तथा फिर से अपने पति से दूर रहने को मजबूर हुई।

राखी और गुलजार अलग हो गए, क्यों?

दरअसल गुलजार चाहते थे की राखी शादी के पश्चात फिल्मों में काम करना बंद कर दें, परंतु राखी को यह बात पसंद नहीं थी।यह अपना फिल्मी जगत में अपना काम जारी रखना चाहती थी।

इस वजह से दोनों के रिश्ते में दरार आ गई तथा कुछ समय के बाद यह दोनों अलग रहने लगे। गुलजार और राखी ने आज तक तलाक नहीं लिया है।

परंतु अनबन के बाद राखी उनके घर छोड़कर पनवेल में एक फार्म हाउस में रहने लगी। अलग रहने के बावजूद राखी और गुलजार की बॉन्डिंग अच्छी रही है। तथा दोनों आपस में मिलते भी रहते हैं। राखी अकेले ही रहना पसंद करती हैं। इनका लुक भी अब पहले से काफी बदल चुका है।

राखी गुलजार का फिल्मी सफर

वर्ष 1967 में राखी अपने 20 वर्ष की उम्र में पहली बंगाली फिल्म वधू बारन में अभिनय किया। इसके पश्चात उन्हें 1970 में अपनी पहली हिंदी फिल्म राज्यश्री प्रोडक्शन की जीवन मृत्यु में धर्मेंद्र के साथ मुख्य भूमिका निभाने की पेशकश की गई।

वर्ष 1971 में राखी ने “शर्मीली” में शशि कपूर के संग दोहरी भूमिका निभाई। उस वर्ष उन्होंने लाल पत्थर और पारस में भी काम किया।

ये सभी तीन फिल्में लोकप्रिय रही थी, तथा वर्ष 1970 के दशक में हिंदी सिनेमा की अग्रणी अभिनेत्री बन गई। उनकी अभिनय की शहजादा 1972 आंखों आंखों में, 1972 हीरा पन्ना, 1973 दाग ,1973 हमारे तुम्हारे, 1979 आंचल, 1980 श्रीमान श्रीमती, 1982 और ताकत, में खूब प्रशंसा मिली।

राखी गुलजार ने शशि कपूर के साथ 10 फिल्मों में काम किया हुआ है। जिनमें:-

• शर्मीली :- 1971,

• जानवर और इंसान :- 1972,

• कभी-कभी :- 1976,

• दूसरा आदमी :- 1977 ,

• तृष्णा :- 1978,

• बसेरा :- 1981,

• बंधन कच्चे धागों का :-  1983 ,

• जमीन आसमान :- 1984,

•  पिघलता आसमान :- 1985,

इन सभी में मुख्य महिला नायिका का रोल निभाने में राखी गुलजार की आखिरी फिल्म वर्ष 1985 में शशि कपूर के संग पिघलता आसमान थी।

वर्ष 1980 के आखिरी वर्षों तथा 1990 के दशक में राखी गुलजार बुजुर्ग माता के रूप में मजबूत चरित्र के रूप में भूमिकाएं निभाई है।

जैसे :- 

राम लखन :- 1989,

• अनाड़ी :- 1993,

• बाजीगर :- 1993,

• खलनायक :- 1993,

• करण अर्जुन :-  1995,

• बॉर्डर :- 1997 ,

• सोल्जर :- 1998,

• एक रिश्ता :- 2001,

•  दिल का रिश्ता :- 2002

राखी गुलजार की आखिरी फिल्म वर्ष 2003 में शुभो महुरत थी। इस फिल्म के लिए राखी गुलजार को सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के रूप में राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी मिली हुई है। तब से राखी गुलजार फिल्म उद्योग से सेवानिवृत हो चुकी हैं।

राखी गुलजार को मिले पुरस्कार

फिल्मफेयर पुरस्कार

• वर्ष 1990 में फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का पुरस्कार :-  राम लखन

• वर्ष 1977 फिल्म फेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार :-  तपस्या

• वर्ष 1974 फिल्म फेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री पुरस्कार :-  दाग

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

• वर्ष 2003 में राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री पुरस्कार

Rakhee Gulzar Now 

बंगाली सिनेमा में राखी गुलजार की वापसी होने वाली है। नंदिता रॉय और शिबो-प्रसाद की “अमर बॉस” में करेंगी काम

कई दशकों तक सिल्वर स्क्रीन को रोशन करने वाली मशहूर राखी गुलजार एक अंतराल के पश्चात पुनः एक बार फिल्मों में वापसी करने वाली हैं।

बंगाल में राखी  की आखिरी नाटक की रिलीज रितुपर्णो घोष की 2003 में आई शुभो माहुरत थी।

हालांकि इन्हें गौतम हलदर की निर्बान में देखा गया था, जिसने वर्ष 2019 में कई फिल्म समारोहों में भाग लिया।

क्योंकि इसकी कोई भी नाटक रिलीज नहीं थी। इस प्रकार राखी गुलजार को बंगाली फिल्म में बड़े पर्दे पर देखने के लगभग दो दशक पूरे हो गए हैं।

जनवरी महीने में आरंभ होगी शूटिंग

“निर्बान” को भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव के 50वीं संस्करण के भारतीय पैनोरमा खंड में सम्मिलित किया गया था।

इसके पश्चात वर्ष 2019 में कोलकाता अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव में प्रदर्शित किया गया था। राखी गुलजार, नंदिता राय द्वारा निर्देशित अमर बॉस में नायक की भूमिका निभाने वाली हैं।

इसकी शूटिंग 3 जनवरी से शुरू हो जाने की उम्मीद की जा रही है। इस फिल्म में शिबोप्रसाद मुखर्जी तथा सरबंती चटर्जी भी सम्मिलित हैं।

 Read also:- Randeep Hooda Wife : रणदीप हुड्डा wife, शादी में दोनों पहनें मणिपुरी पारंपरिक परिधान

राखी गुलजार का सम्मान करते हैं:-  नंदिता रॉय

नंदिनी राय ने राखी गुलजार के संग काम करने को लेकर बहुत ही उत्साहित हैं। अपने इस उत्साह को व्यक्त करते हुए नंदिता राय ने कहा कि मैं राखी दी का बहुत सम्मान करती हूं, तथा लंबे समय से उनके साथ काम करना चाहती थी।

उन्हीं को ध्यान में रखकर अमर बॉस की कल्पना की गई थी। हम उनके साथ काम करने का मौका पाकर बहुत खुश हुए हैं।

राखी के साथ काम करने को लेकर शिबोप्रसाद भी उत्साहित हैं

शिबोप्रसाद ने कहा है कि हम पिछले कुछ समय से राखी दी के संपर्क में बने हुए हैं। उन्होंने हमारे अधिकांश फिल्में देखीं हैं। और कहा है की उनकी पसंदीदा हामी है।

राखी गुलजार न केवल एक प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं, बल्कि एक जिंदा दिल इंसान तथा सीधी बात करने वाली इंसान भी है।

एक ऐसी इंसान जो जानवरों के प्रति भी बहुत प्यार रखती हैं। राखी के गुलजार के पास अनेक ऐसे गुण हैं, जो सचमें सबको मंत्र मुग्ध कर देने वाला है। हमें इनके साथ काम करने पर गर्व है।

नाटकीय रिलीज के 2 दशकों के पश्चात अब राखी गुलजार नंदिता राय तथा शिबोप्रसाद मुखर्जी की “अमर बॉस” के साथ बंगाली ऑलमोस्ट में वापसी करने के लिए पूरी तरह से तैयार हो गई हैं।

दोस्तों, उम्मीद है कि Rakhee Gulzar Now पोस्ट आपको पसंद आई होगी। ऐसे ही और जानकारी हासिल करने के लिए इस वेबसाइट को सब्सक्राइब करें तथा टेलीग्राम ग्रुप से भी जुड़ जाएं। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें।

अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद। 💐💐

Leave a Reply

Discover more from teckhappylife.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading