sanvidhan sabha ke adhyaksh kaun the : संविधान सभा के अध्यक्ष कौन थे

sanvidhan sabha ke adhyaksh kaun the: भारत का संविधान बनाने के लिए कैबिनेट मिशन योजना के तहत वर्ष 1946 में संविधान सभा का गठन किया गया। इस सभा का पहली बैठक 9 दिसंबर 1946 को हुई, जिसमें सबसे वयस्क सदस्य सच्चिदानंद सिन्हा जी को संविधान सभा का अस्थाई अध्यक्ष चुना गया था।

संविधान सभा का अध्यक्ष

इसके पश्चात संविधान सभा का स्थाई अध्यक्ष के रूप में डॉ राजेंद्र प्रसाद को चुना गया। डॉ राजेंद्र प्रसाद भारत के सबसे लंबे समय तक सेवा प्रदान किए। डॉ राजेंद्र प्रसाद ने महात्मा गांधी एवं अन्य नेताओं के साथ भी कांग्रेस के एक प्रमुख नेता के रूप में काम किए हुए थे।

Read also:- • Sanvidhan sabha ke prarup samiti ke adhyaksh kaun the |संविधान सभा के प्रारूप समिति के अध्यक्ष कौन थे

डॉ राजेंद्र प्रसाद

वर्ष 1950 से 1962 तक डॉ राजेंद्र प्रसाद भारत के राष्ट्रपति के पद पर आसीन रहे। संविधान सभा के सदस्यों में डॉ राजेंद्र प्रसाद, जवाहरलाल नेहरू, बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर, सरदार वल्लभभाई पटेल, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, मौलाना अबुल कलाम आजाद एवं अन्य सदस्य शामिल थे।

डॉ राजेंद्र प्रसाद भारतीय गणराज्य के पहले राष्ट्रपति थे, जिन्होंने वर्ष 1950 से लेकर वर्ष 1962 तक सेवा प्रदान की।

डॉ राजेंद्र प्रसाद एक प्रसिद्ध राजनेता, वकील, भारतीय स्वतंत्रता के समर्थक, पत्रकार और विद्वान भी थे। डॉ राजेंद्र प्रसाद के द्वारा भारत के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले चिकित्सक भी थे।

26 जनवरी 1950 को भारत के राष्ट्रपति के पद पर डॉ राजेंद्र प्रसाद आसीन हुए। राष्ट्रपति भवन कभी एक शाही महल हुआ करता था, जिसे डॉ राजेंद्र प्रसाद के द्वारा एक परिष्कृत ‘भारतीय निवास’ में बदल दिया गया।

Read also:- 1928 में भारत का संविधान किसने बनाया : Indian Constitution

FAQ :- पोस्ट से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न- उत्तर

( 1). संविधान सभा के प्रथम अध्यक्ष कौन थे?

उत्तर:-  9 दिसंबर 1946 को संविधान सभा का अस्थाई अध्यक्ष के रूप में सच्चिदानंद सिन्हा जी को चुना गया था ।फिर डॉ राजेंद्र प्रसाद को संविधान सभा के प्रथम स्थाई अध्यक्ष के रूप में चुनाव किया गया।

(2). संविधान सभा के अस्थाई अध्यक्ष कौन थे ?

उत्तर:- 9 दिसंबर 1946 को संविधान सभा के सबसे वरिष्ठ सदस्य डॉक्टर सच्चिदानंद सिन्हा जी को संविधान सभा का अस्थाई अध्यक्ष के रूप में चुनाव किया गया था।

(3).पहला संविधान दिवस कब मनाया गया था?

उत्तर:- गणतंत्र भारत में 26 जनवरी 1950 से संविधान को संपूर्ण रूप से भारत में अमल में लाया गया। भारतीयों द्वारा कई दशकों पूर्व से संविधान दिवस मनाया जाता है। डॉक्टर बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर के इस महान योगदान के रूप में भारत सरकार द्वारा पहली बार 26 नवंबर 2015 को संविधान दिवस के रूप में मनाया गया, तथा 26 नवंबर 2015 से अब प्रतिवर्ष संपूर्ण भारत में संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है।

(4). अनुच्छेद 351 में क्या है?

उत्तर:- अनुच्छेद 351 में यह प्रावधान किया गया है कि हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार करना उसका विकास करना ताकि वह भारत की सामाजिक संस्कृति के सब तत्वों के अभिव्यक्ति का माध्यम बन पाए एवं उसकी आत्मीयता में हस्तक्षेप किए बिना हिंदुस्तानी और अष्टम अनुसूची में उल्लेखित अन्य भारतीय भाषाओं के रूप में शैली और पदावली को आत्मसात करते हुए तथा आवश्यक तथा वांछनीय हो जाए।

(5). संविधान सभा की प्रारूप समिति के अध्यक्ष कौन थे?

उत्तर :- संविधान सभा के द्वारा संविधान निर्माण करने हेतु कई सारी समितियों का गठन किया गया था, जिसमें से प्रारूप समिति महत्वपूर्ण थी। इस समिति का कार्य संविधान का मसौदा तैयार करना था। इस समिति को ड्राफ्ट कमेटी के नाम से भी जाना जाता था। इससे समिति का अध्यक्ष बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर थे, एवं इस समिति में इनके अतिरिक्त सदस्य और भी थे।

दोस्तों, उम्मीद है की यह पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी। ऐसे ही और जानकारी हासिल करने के लिए इस वेबसाइट को सब्सक्राइब करें तथा टेलीग्राम ग्रुप को भी ज्वाइन कर लें ।इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें ताकि उन्हें भी इस पोस्ट का लाभ प्राप्त हो सके ।

Read also:- Sanvidhan kise kahate hain : संविधान किसे कहते हैं

अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद।💐💐

Read also:- bharat ka sanvidhan kab lagu hua tha : भारत का संविधान कब लागू हुआ था

 

Discover more from teckhappylife.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading