Single Niche vs Multi Niche Blog: किस निच पर ब्लॉग्गिंग करें?

दोस्तों,Single Niche vs Multi Niche Blog आज के समय में  हर कोई ऑनलाइन पैसे कमाना चाहता है। ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए ब्लॉगिंग करना अधिकांश लोगों का पसंदीदा काम बन गया है ।

परंतु जब भी एक नए ब्लॉगर अपना ब्लॉग बनाता है तो उसे ब्लॉगिंग के प्रक्रिया के बारे में सही तरीके से जानकारी नहीं होती है कि उसे किस टॉपिक पर काम करना चाहिए।

Table of Contents

इसलिए वह दूसरे- दूसरे ब्लॉगर्स के ब्लॉग को देखकर  भिन्न-भिन्न  विषयों पर ब्लॉग लिखना शुरू कर देता है । ऐसे ब्लॉगर्स को Single Niche और Multiple Niche बारे में जानकारी नहीं होती है। ऐसे ब्लॉगर्स को यह भी मालूम नहीं होता है कि इसका फायदा और नुकसान क्या होता है?

 तो दोस्तों, आज के इस पोस्ट में हम Single Niche vs Multiple Niche Blog in Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी देने वाले हैं। आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक अवश्य पढ़ें क्योंकि यदि आपने इसे अंत तक पढ़ लिया तो इस टॉपिक के बारे में कहीं और से जानकारी हासिल करने की जरूर नहीं पड़ेगी। यदि आप भी एक नए ब्लॉगर हैं तो इस टॉपिक के बारे में जान लेने के बाद आप एक सही दिशा में ब्लॉगिंग करेंगे जिसका फायदा आपको अवश्य मिलेगा।तो दोस्तों बिना समय गवाएं के इस पोस्ट  के बारे में जानकारियां हासिल करते हैं।

Niche  क्या है?

“Niche” कोई एक  टॉपिक या विषय है  जिसे  हम ब्लॉग्गिंग की भाषा में Niche कहते है जैसे – Finance, Blogging , Digital marketing आदि।

Single Niche vs Multi Niche Blog – के बारे मेंं 

Single Niche Blog:-सिंगल निच ब्लॉग ऐसे ब्लॉग को कहा जाता है जिसमें केवल एक ही टॉपिक पर पोस्ट लिखा जाता है। जैसे यदि कोई ब्लॉगर का ब्लॉग Entertainment के ऊपर है तो वह वह अपनी पोस्ट में केवल इंटरटेनमेंट के टॉपिक को ही कवर करेगा। Entertainment  से संबंधित ही  जानकारियां शेयर करेगा।

Multi Nich Blog:-मल्टी निच ब्लॉग पर एक से अधिक विषयों के बारे में पोस्ट लिखा जाता है।या हम कह सकते हैं कि इस ब्लॉग पर भिन्न-भिन्न विषयों के बारे में पोस्ट लिखकर शेयर किए जाते हैं। इस तरह के ब्लॉग पर स्वास्थ्य, सेहत, टेक्नोलॉजी ,ब्लॉग, फैशन, एंटरटेनमेंट आदि विषयों के बारे में पोस्ट देखने को मिलेंगे। जानकारी के लिए मैं बता दूं कि हिंदी मैं अधिकतर ब्लॉग मल्टी निच ब्लॉग ही देखने को मिलेंगे।

Single Niche vs Multi Niche Blog in Hindi

आईए अब हम सिंगल निच और मल्टी निच के ब्लॉग के कुछ पॉइंट को लेकर समझते हैं कि कौन से ब्लॉग पर हमें काम करना चाहिए।इन पॉइंट को आधार मानकर आसानी से समझ पाएंगे की कौन सा ब्लॉग अच्छा होता है।

(1)कौन जल्दी रैंक करता है?

मल्टी निच की तुलना में सिंगल निच ब्लॉग अच्छा परफॉर्म करता है यानी कह सकते हैं की सिंगल निच मल्टी निच से बेहतर  रैंक करता  है। क्योंकि सिंगल निच ब्लॉग को सर्च इंजन आसानी से समझ जाता है कि ब्लॉग किस विषय पर लिखा जा रहा है इसमें कौन-कौन से टॉपिक को कवर किये जा रहे हैं।

जबकि मल्टी निच को सर्च इंजन समझ नहीं पता है। इसमें सर्च इंजन को समझने में थोड़ा टाइम लगता है कि ब्लॉग किस विषय पर लिखा जा रहा है। इसलिए मल्टी निच ब्लॉग के रैंक होने में अधिक समय लगता है।

(2) किस निच पर ट्रैफिक  ज्यादा आता है?

मल्टी निच ब्लॉग को गूगल थोड़ा time के बाद  तो  समझता है परंतु मैं बता दूं कि सिंगल निच की तुलना में मल्टी निच ब्लॉग में अधिक ट्रैफिक आता है क्योंकि मल्टी निच ब्लॉग बहुत सारे टॉपिक पर पोस्ट लिखे होते हैं जिससे उन ब्लॉग पर ट्रैफिक भी ज्यादा मात्रा में आता है।

परंतु दोस्तों सिंगल निच ब्लॉग में ट्रैफिक तो कम होता है परंतु जो भी ट्रैफिक होता है वह क्वालिटी ट्रैफिक होता है।  ट्रैफिक के मामले में मल्टी निच ब्लॉग बेहतर होता है।

 (3 ) किस पर लोग अधिक भरोसा करते हैं ?

भरोसे के मामले में सिंगल निच पर लोगों का अधिक भरोसा होता है क्योंकि जब ब्लॉग पर एक ही विषय पर पोस्ट  लिखे जाते हैं तो रीडर को लगता है कि ब्लॉगर इस विषय में  विशेषज्ञ है ,और इसलिए सिंगल निच ब्लॉग पर मल्टीनेशनल ब्लॉग की तुलना में लोगों का भरोसा ज्यादा होता है।

मल्टी  निच ब्लॉग पर लोगों का कम भरोसा होता है क्योंकि उन्हें लगता है कि ब्लॉगर किसी एक विषय पर विशेषज्ञ नहीं है। उदाहरण लेकर बताऊं तो यदि आपका फ्रिज खराब हो जाता है तो आप वही दिखाना चाहेंगे जहां पर फ्रिज को ठीक किया जाता हो न‌ कि किसी और दुकान पर जहां भिन्न – भिन्न सामानों को ठीक किया जाता हो या फिर सेल किया जाता हो।

 ठीक इसी प्रकार से ऑनलाइन दुनिया में लोग वहीं जाना पसंद करते हैं जहां पर उन्हें किसी एक विषय पर Specialist मालूम पड़ता है। इसीलिए सिंगल निच हमेशा भरोसेमंद ब्लॉग  माना जाता है।

(4 ) किस निच का SEO करना आसान  होता है ?

मल्टी निच ब्लॉग के अपेक्षा सिंगल निच ब्लॉग का SEO करना आसान होता है क्योंकि सभी पोस्ट एक ही टॉपिक से संबंधित होते हैं। इसलिए सिंगल निच ब्लॉग में Internal Linking करने में और Backlink बनाने में  दोनों में भी आसानी होती है।

वहीं मल्टी निच ब्लॉग की बात की जाए तो इंटरनल लिंकिंग करने में आपको हर कैटेगरी पर ढेर सारे आर्टिकल लिखने की आवश्यकता पड़ती है तभी आप इंटरलिंक कर पाएंगे और ठीक वैसे ही बैकलिंक के लिए भी हर कैटेगरी के लिए अलग-अलग से बनाना पड़ता है।

इसलिए कहा जा सकता है कि मल्टी निच ब्लॉग की अपेक्षा सिंगल निच ब्लॉग में इंटरलिंक और बैकलिंक करना आसान होता है।

(5)  किस निच के ब्लॉग से कमाई ज्यादा होता है ?

ब्लॉग से कमाई की बात की जाए तो Google Adsense से मल्टी निच ब्लॉग में सिंगल निच ब्लॉग की तुलना में अधिक कमाई होती है। Google Adsense सभी ब्लोगर का पसंदीदा Ads network होता ‌है। गूगल ऐडसेंस नेटवर्क रेवेन्यू भी अच्छा देता है इसीलिए सभी ब्लोगर का पसंदीदा नेटवर्क  है।

परंतु दोस्तों यदि बात की जाए Affiliate marketing,Consultancy services,  कोर्स बनाकर बेचना आदि की तो सिंगल नीचे ब्लॉग में बहुत अच्छी खासी कमाई होती है, क्योंकि मैं आपको ऊपर बता चुकी  हूं कि सिंगल निच ब्लॉग को लोग भरोसेमंद वाला ब्लॉग मानते हैं। इसके कारण इन पर आने वाला ट्रैफिक परमानेंट रीडर बन जाते हैं और इनके एफिलिएट लिंक से प्रोडक्ट को खरीदना पसंद करते हैं।

आप देख पा रहे हैं कि कमाई दोनों ही प्रकार के ब्लॉक से अच्छी – खासी होती है परंतु सिंगल निच ब्लॉग को ज्यादा वरीयता  दिया जाता है क्योंकि मल्टी निच ब्लॉग की अपेक्षा सिंगल निच ब्लॉग में कमाई के ज्यादा सोर्सेज अवेलेबल होते हैं, जिससे आपको ऐडसेंस की तुलना में बहुत ज्यादा कमाई होती हैं।

इसे भी पढ़ें:-

Free keyword Research kaise karen

Blogging se paisa kaise kamaye

Single Niche vs Multi Niche: हमारा सुझाव

दोस्तों यदि आप अपने ब्लॉग को कमाई के बहुत सारे सोर्सेज के रूप में देखना चाहते हैं तो आपको सिंगल निच ब्लॉग पर काम करना चाहिए, क्योंकि इसमें कमाई के अनलिमिटेड सोर्सेस अवेलेबल होते हैं। आगे चलकर आप अपने ब्लॉग से ही एक बड़ा बिजनेस खड़ा कर सकते हैं। इसलिए यदि आप ऐसा चाहते हैं तो मैं सुझाव दूंगी की आप सिंगल निचे ब्लॉग पर ही कम करें।

लेकिन यदि आपका मुख्य उद्देश्य अपने ब्लॉग पर  अधिक से अधिक ट्रैफिक लाकर गूगल ऐडसेंस के जरिए पैसा कमाना है, तो आप मल्टी निच ब्लॉग पर काम कर सकते हैं ,क्योंकि यहां पर ट्रैफिक अधिक आता है सिंगल निच ब्लॉग के तुलना में। परंतु सिंगल निच ब्लॉग में कमाई के सोर्सेज सीमित हो जाते हैं, इसका आपको ध्यान रखना होगा। 

मान लीजिए कि आप अपनी ब्लॉग पर डिजिटल मार्केटिंग कोर्स बेचना चाहते हैं और आपका ब्लॉग  मल्टी निच ब्लॉग है जिस पर आप अनेक विषयों पर लेख लिखते हैं। ऐसे में यदि आपके ब्लॉग पर 2 लाख ट्रैफिक है तो मुश्किल से शायद 20 या 25 लोग भी आपका कोर्स नहीं ले पाएंगे, क्योंकि ऐसा जरूरी नहीं है कि आपकी ब्लॉक का ट्रैफिक डिजिटल मार्केटिंग से रिलेटेड जानकारी के लिए आए हुए लोगों का ही है।

परंतु यदि आपका ब्लॉग सिंगल निच ब्लॉग है तो ऐसे में आप डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स बेचेंगे तो आपके ब्लॉक पर यदि 50000 लोग आते हैं तो हो सकता है कि उसमें से 100 या 200 लोग आपके कोर्स को खरीद ले ।

क्योंकि वह आपके ब्लॉग पर डिजिटल मार्केटिंग के जानकारी लेने ही आए हुए थे इसलिए आपका कोर्स लेना भी पसंद करेंगे और  आपकी पोस्ट पर उनका भरोसा भी तो  बना रहता है। इस तरह से आपकी कमाई भी अच्छी होगी।

इसलिए मेरा सुझाव यह है कि को आपको सिंगल निच ब्लॉग पर ही काम करना चाहिए। लेकिन यदि आप मल्टी निच ब्लॉग बनाना चाहते हैं या बनाए हुए हैं तो शुरुआत में आपको हमेशा सिंगल निच पर ही काम करना चाहिए और जब आपका ब्लॉग पर ज्यादा ट्रैफिक आने लगे और गूगल पेज में रैंकिंग होने लगे तब आप दूसरे निच पर काम करना शुरू कर सकते हैं।

इसलिए ब्लॉक बनाने से पहले ही आपको अपने लक्ष्य को फिक्स कर लेना चाहिए कि आपको केवल गूगल एडसेंस से कमाई करनी है या फिर कमाई के अनेक सोर्सेस को डेवलप करना है।

इसके बाद आप अपने लक्ष्य के  अनुसार  ही मल्टी निच ब्लॉग या सिंगल निच ब्लॉग बना सकते हैं और फिर इसी के अनुसार आप अपने ब्लॉग पर काम कर सकते हैं।

सिंगल निच ब्लॉग के फायदे और नुकसान 

सिंगल निच ब्लॉग बनाने से आपको कई सारे फायदे मिलते हैं परंतु आप जानते हैं कि हरेक सिक्के के दो पहलू होते हैं अच्छा और बुरा। ठीक इसी प्रकार सिंगल निच ब्लॉग के फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी होते हैं परंतु हम इसके नुकसान को इग्नोर कर सकते हैं, क्योंकि इसके फायदे के अपेक्षा बहुत कम नुकसान होता है।

सिंगल निच ब्लॉग के फायदे :-

✓आप एक अथॉरिटी वेबसाइट बना सकते हैं। इस पर लोगों का अधिक भरोसा होता है और इसके रीडर परमानेंट रीडर बन जाते हैं।

✓सर्च इंजन रिजल्ट पेज में Single Niche Blog मल्टी निच ब्लॉग के तुलना में बेहतर Perform करते हैं, और जल्दी Rank करते हैं।

✓इंटरनल लिंकिंग करने में आपको मल्टी निच ब्लॉग के तुलना में आसानी होती हैं।

✓ इस ब्लॉग में बैकलिंक आप आसानी से बना सकते हैं।

✓सिंगल निच ब्लॉग में आप खुद को एक Specialist के रूप में स्थापित कर सकते हैं।

✓इसमें कमाई के अनेक तरीके  उपलब्ध होते हैं । इस- लिए इस ब्लॉग से अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं ।

✓ आप लोगों का भरोसा जीत सकते हैं।

✓ आप लोगों की अच्छे से मदद कर सकते हैं।

✓ इस तरह के ब्लॉग में आपके ब्लॉग पर आने वाला ट्रैफिक Quality वाला होगा।

✓सिंगल  निच ब्लॉग  में आपको Competition कम देखने को मिलता है।

✓ सिंगल निच ब्लॉग में आप अपने यूजर को कस्टमर में बदल सकते है।

✓सिंगल निच ब्लॉग  का ट्रैफिक रेगुलर यूजर लाता है।

सिंगल निच  ब्लॉग का नुकसान:-

✓  इस ब्लॉग में Content Research करने में समय लगता है।

✓ इसमें ट्रैफिक कम आता है।

✓  सिंगल निच ब्लॉग में गूगल एड्सेंस से मल्टी निच ब्लॉग के तुलना में कमाई भी कम होती है।

Multi Blog Niche के लाभ क्या होते है? | Advantages of Multi Niche Blog

  Multi Blog Niche के लाभ निम्नलिखित है:–

✓Multi  निच ब्लॉग में ब्लॉग के राइटर के पास टॉपिक्स की कमी नहीं होती है।

✓Multi  निज  ब्लॉग आपको नयी पोस्ट किसके  बारे में लिखनी है इसके लिए ज्यादा सोचना नहीं होता है।

✓Multi  Niche  ब्लॉग में  आपको ज्यादा रिसर्च करने की भी  जरुरत नहीं पड़ती है। कीवर्ड आसानी से मिल जाते हैं।

✓Multi ब्लॉग Niche पर यूजर हमेशा आते -रहते है क्योंंकि इसमें अलग अलग विषयों की जानकारी दी जाती है। इसलिए इस ब्लॉग पर ट्रैफिक ज्यादा होता है। अतः इनकम भी ज्यादा होती है।

✓Multi ब्लॉग Niche में आपको सोशल मीडिया के जरिये से अच्छा ट्रैफिक मिल जाता है। हम सोशल मीडिया पर अपने पोस्ट को शेयर करके ट्रैफिक में वृद्धि कर सकते हैं।

     ” परंतु दोस्तों  ध्यान देने की बात यह है कि मल्टी निच ब्लॉग से हमारे पास इनकम के सोर्सेज सीमित हो जाते हैं इसलिए हमें ज्यादा सिंगल निच ब्लॉग पर ही ध्यान देना चाहिए, क्योंकि वहां पर इनकम के सोर्सेज अनलिमिटेड है।”

आपको क्या सीख मिली: Single Niche vs Multi Niche

इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आपको Single Niche vs Multi Niche Blog In Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी दी हूं। इसे पढ़ने के बाद आप अच्छे से समझ गए होंगे कि क्यों मल्टी निच ब्लॉग के तुलना में सिंगल निच ब्लॉग को बेहतर माना जाता है। अब आप जब भी अपना ब्लॉग बनाएं तो सिंगल निच पर ही काम करें, क्योंकि इसमें भविष्य में आपको बहुत अधिक फायदे मिलेंगे।

उम्मीद करते हैं कि मेरे द्वारा लिखे गए यह पोस्ट आपको अवश्य पसंद आया होगा और इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपके लिए फायदेमंद ही साबित होगा। इसलिए आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के पास शेयर कर दें ताकि उन्हें भी इस पोस्ट का फायदा मिल सके।

अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद 💐💐

<

p style=”padding-left: 40px;”> 

8 thoughts on “Single Niche vs Multi Niche Blog: किस निच पर ब्लॉग्गिंग करें?”

Leave a Reply

Discover more from teckhappylife.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading